होम साइटमैप संपर्क करें English 
छात्रवृत्ति योजना
     

सांस्कृरतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केन्द्रि वर्ष 1982 से राष्ट्री्य स्तशर पर सांस्कृतिक प्रतिभा खोज छात्रवृत्ति योजना को कार्यान्वित कर रहा है । इस योजना का उद्देश्यि 10-14 वर्ष की आयु वर्ग के उत्कृष्टर प्रतिभाशाली बच्चों को जो या तो मान्यता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले अथवा पारम्परिक कला शैलियों से संबंधित परिवारों से संबंद्व हैं, को विभिन्न सांस्कृततिक क्षेत्रों में विशेष प्रशिक्षण हेतु सविधाएं प्रदान करना है जैसे संगीत, नृत्यि, नाट्य की पारम्परिक शैलियां तथा चित्रकला शिल्पककला, हस्त्कला और साहि‍त्यिक गतिविधियां आदि भी इसमें शामिल है । छात्रवृत्तिधारक के लिए छात्रवृत्ति की राशि रूपये 3600/- प्रति वर्ष निर्धारित है । इसके अलावा गुरू/शिक्षक को दिया जाने वाले वास्तविक शिक्षण शुल्करकी प्रतिपूर्ति की सीमा रूपये 9000/- प्रति वर्ष निर्धारित है ।

केन्द्र प्रति वर्ष 650 नई छात्रवृत्तियां प्रदान करता है, जिनमें से 100 छात्रवृत्तियां जनजातीय संस्कृ ति के लिए आरक्षित हैं । 125 छात्रवृत्तियां पारम्परिक कलाशैलियों से जुडे परिवारों के बच्चों के लिए, 20 छात्रवृत्तियां दिव्यांग बच्चों के लिए, तथा 30 छात्रवृत्तियां सृजनात्मखक लेखन से जुडे बच्चों के लिए आरक्षित है और शेष 375 छात्रवृत्तियां सामान्यि वर्ग के छात्रों के लिए होंगी । ।

                  
           
 

चयन प्रक्रिया -

चुने हुए अभ्यार्थी को साक्षात्का‍र/परीक्षा में बुलाए जाने के लिए सीसीआरटी द्वारा एक केन्द्री य चुयन समिति का गठन किया जाएगा, जिसका निर्णय अन्तिम होगा । केवल चुने हुए अभ्यार्थी को डाक द्वारा साक्षात्कार/परीक्षा की तिथि, समय और स्थान के लिए सूचित किया जाएगा, जो प्रतिवर्ष माह मई-अगस्त के दौरान क्षेत्रीय स्तीर पर आयोजित की जाती हैं ।

नई छात्रवृत्तियां प्रदान करने के लिए साक्षात्कार/परीक्षा में उपस्थित होने वाले छात्रों को 01 से 10 अंक के क्रम में विशेष समिति के प्रत्येक सदस्य द्वारा मूल्यांकित किया जाता है । योग्यताक्रम का कडाई से अनुपालन करते हुए उस वर्ष की छात्रवृत्तियों की संख्या की उपलब्धाता को देखते हुए, छात्रों को समिति द्वारा प्राप्त कुल अंक के आधार पर छात्रवृत्ति(ओं) की सिफारिश की जाती है ।

 

 

प्रति रिपोर्ट तथा सीसीआरटी छात्रवृत्ति धारकों के लिए भुगतान प्राप्ति का प्रपत्र