होम साइटमैप संपर्क करें English 

समुदाय एवं विस्तार पुनर्निवेश कार्यक्रम - बच्चों के लिए गतिविधि

केन्‍द्र अपने समुदाय तथा विस्‍तार पुनर्निवेश कार्यक्रम के अन्‍तर्गत विद्यालय के छात्रों तथा गैर-सरकारी स्‍वंयसेवी संगठनों द्वारा चलाए जाने वाले अनौपचारिक स्‍कूलों में पढ़ने वाले झुग्‍गी-झोंपड़ी के छात्रों के लिए भारत की समृद्ध प्राकृतिक तथा सांस्‍कृतिक धरोहर के प्रति जागरूकता उत्‍पन्‍न करने हेतु अनेक प्रकार की शैक्षिक गतिविधियों का आयोजन करता है :

गतिविधि

शैक्षिक यात्राएँ

स्‍मारक

संग्रहालय

कला वीथियां

शिल्‍प केन्‍द्र

चिडि़याघर/उद्यान

सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के छात्र नि:शुल्क प्रस्तावित किये जाते है।

 

भ्रमणों की व्यवस्था मुख्यालय नई दिल्ली तथा क्षेत्रीय केन्द्रों, उदयपुर, हैदराबाद एवं गुवाहाटी द्वारा निशुल्क शहर की विशिष्ट गतिविधियों से शामिल करते हुए की जाती है।

स्कूलों को उनके पूर्व अनुरोध के आधार पर भेजी जाती है। प्रदर्शियों की स्थापना छात्र / शिक्षकों तथा जन समुदाय के हित में सुरक्षित स्थानीय पर सीसीआरटी द्वारा निशुल्क की जाती है।

विशेष कार्यक्रम

स्थानीय रूप से कम कीमत वाले संसाधनों का उपयोग करते हुए शिल्प सीखने से संबंधित कार्यशाला;

प्राकृतिक तथा सांस्कृतिक विसासत के संरक्षण पर शिविर

विविध कला-रूपों पर कलाकारों तथा विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान तथा प्रदर्शन;

विद्यालयो और कॉलेजों में कलाकारों तथा शिल्पियों द्वारा व्याख्यान प्रदर्शन;

कक्षा - शिक्षण के पूरक रूप में स्लाइड - व्याख्यान;

पुनर्वास एवं बस्ती कॉलोनी के बच्चों के लिए कार्यशालाएँ;

विशेष रुप से विकलांग छात्रों/ छात्राओं के लिए कार्यशालाएँ;

शिक्षा में पुतली कला पर कार्यशालाएँ ।

सीसीआरटी इस कार्यक्रम के अन्‍तर्गत बच्‍चों के लिए (10 से 15 आयु वर्ग के मध्‍य) ‘ग्रीष्‍मकालीन शिविर’ भी आयोजित करता है । गतिविधियों का चुनाव दिल दिमाग, हस्‍त और मनोभावों में बच्‍चों की एकाग्रता हेतु सावधानी पूर्वक किया जाता है । बच्‍चों को विशेषज्ञों तथा कलाकारों के मध्‍य कार्य करने का अवसर प्रदान किया जाता है जो इन दिनों बच्‍चा अधिकांश बच्‍चों के साथ मुश्किल से मिल पाता है । युवाओं को अपने जादुई मानसिक कार्य से परिचित कराने के लिए उन्‍हें भावात्‍मक विकास की ओर अग्रसर करने का एवं इस दिशा में चिंतन और मनन की राह में अकेले और समूह में कार्य करने की आवश्‍यकता है । इस प्रकार यह एक रचनात्‍मक अन्‍वेषण है जो गतिविधियों के दौरान सभी प्रकार के अनुभवों की गुणवत्‍ता लिए हुए है । जिसकी विकास यात्रा अन्‍त:करण से अथवा बाह्य विकास एवं उससे भी आगे तक जाती है ।

‘ग्रीष्‍मकालीन शिविर’ की अवधि 10 से 13 दिन की है, जिस का समय सुबह 9.15 से दोपहर 1.00 बजे तक है । इस का प्रचार स्‍थानीय समाचार पत्रों में विज्ञापित किया जाता है ।

अवधि

 

3-7 दिन

प्रतिभागियों का स्‍तर

औपचारिक एवं नैापचारिक स्कूलों के छात्र

डाउनलोड फॉर्म

सीसीआरटी मुख्यालय,नई दिल्ली द्वारा प्रस्तावित गतिविधियों के लिए

 

समान शैक्षिक गतिविधियों के लिए सम्‍बंधित क्षेत्रीय केन्‍द्रों से सम्‍पर्क करें ।