HOME SITEMAP CONTACT US हिन्दी 

The hindi version of the website is under construction.

X Close

Constitution Day Celebration 2021


 

" Constitution Day Celebration 2021 "




  • 1.
    Samvidhan Diwas' was celebrated by CCRT on November 26, 2021. Dr.Prasannanshu from NLUD was an expert speaker during the program. He delivered a lecture on "Constitutional Values ​​and Fundamental Principles of the Indian Constitution" for all the members of the CCRT and the teacher participants of ongoing training programs. The program began by reading the 'Preamble of the Constitution' alongwith Hon'ble President of India in digital mode. During his lecture he touched upon the basic premise on which the Constitution of India rests for instance, Justice-social, economic and political. Liberty-thought, expression, belief, faith and worship .

    The staff relished the session thoroughly and gained knowledge from our chief guests' wisdom words. Towards the end he recited the shlok from Gita " विद्या विनय सम्पन्ने ब्राह्मणे गवि हस्तिनी | शुनि चैव श्वपाके च पंडिता : समदर्शिन :|| ज्ञानी महापुरुष विद्याविनययुक्त ब्राह्मण में और चांडाल तथा गाय , हाथी एवं कुत्ते में भी समरूप परमात्मा को देखने वाले होते हैं। To sum up, all living beings are equal and have a right to lead their lives with dignity. Director CCRT, Rishi Kumar Vashist appealed to all the staff for doing their fundamental duties also with committed dedication and dedicated commitment along with fundamental rights. Dr. Rahul Kumar compered the program and proposed the vote of thanks.

    सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र में आज 26 नवम्बर 2021 को 'संविधान दिवस' के शुभ अवसर पर "संवैधानिक मूल्यों और भारतीय संविधान के मौलिक सिद्धांत" विषय पर एक कार्यक्रम मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत निदेशक सीसीआरटी, ऋषि कुमार वशिष्ठ के कुशल नेतृत्व में 'संविधान की उद्देशिका' की शपथ ग्रहण करते हुए; उनके संबोधन से हुई। जिस में सीसीआरटी परिवार के सभी सदस्यों तथा सभी क्षेत्रीय केन्द्रों से जुड़े शिक्षक प्रतिभागियों ने एक साथ ऑनलाईन माध्यम से जुड़ते हुए इस शपथ को भावानुसार दोहराया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, दिल्ली के प्रोफेसर एवं कवि डॉ. प्रसन्नांशु जी रहें। जिन्होंने हमारे संविधान के बारे में रूचि पूर्ण जानकारी प्रदान करतें हुए अपने स्वरचित कवितापाठ के माध्यम से देश के प्रति हमारी कर्त्तव्यपरायणता का बोध कराते हुए कहा कि हमें अपने संविधान अपने देश की संस्कृति पर गर्व करना चाहिए। कार्यक्रम के समापन पर धन्यवाद ज्ञापन डॉ. राहुल कुमार, उपनिदेशक, सीसीआरटी द्वारा प्रदान किया गया।


 



 

 

 

 

 

 

 

 











Organisation |   Training Programmes |   Scholarship Scheme |   Calender of Events |   Nodal Officers |   Cultural Club |   RTI |   RFD |    Related Websites |   Tenders |   Contact